BackBack
Description

Author: Sujata Prasad

Languages: English

Number Of Pages: 176

Binding: Paperback

Release Date: 02-07-2019

Details: कल्पनाओं की कूंची और सच की स्याही देने वाले तमाम एहसासों में तथ्यात्मक कथ्य को लेकर रची गई कविताएं अनुभूति के स्तर पर श्रेष्ठ हैं। सर्वविदित है कि साहित्य की सबसे कोमल विधा कविता है। इसमें माधुर्य है, रस है, पठनीयता है और संप्रेषणीयता है, जो इसे पाठकों द्वारा सर्वाधिक ग्राह्य बनाता है। ग्राह्यता अपने आप में अत्यंत महत्वपूर्ण है। कविता की एक अन्य विशेषता उसकी गेयता में सन्निहित है। प्रस्तुत पुस्तक की अधिकांश कविताएं उनमें से दोनों अथवा एक विशेषता से पूर्ण हैं। इन दोनों मानदंडों को लेकर चलें तो प्रस्तुत संग्रह को एक महत्वपूर्ण कृति मानना पड़ेगा। संपर्क भाषा में लिखी गई लोक जन की पुस्तक "अनुभूतियों की काव्यांजलि" एक ऐसा ही समर्थ काव्यसंग्रह है।