BackBack
-10%

Apsara

Suryakant Tripathi 'Nirala' (Author)

Rs 175.50 – Rs 445.50

PaperbackPaperback
HardcoverHardcover
Rs 195.00 Rs 175.50
Description
अप्सरा ‘निराला’ की कथा–यात्रा का प्रथम सोपान है । अप्सरा–सी सुन्दर और कला–प्रेम में डूबी एक वीरांगना की यह कथा हमारे हृदय पर अमिट प्रभाव छोड़ती है । अपने व्यवसाय से उदासीन होकर वह अपना हृदय एक कलाकार को दे डालती है और नाना दुष्चक्रों का सामना करती हुई अंतत: अपनी पावनता को बनाए रख पाने में समर्थ होती है । इस प्रक्रिया में उसकी नारी–सुलभ कोमलताएँ तो उजागर होती ही हैं, उसकी चारित्रिक दृढ़ता भी प्रेरणाप्रद हो उठती है । इस उपन्यास में तत्कालीन भारतीय परिवेश और स्वाधिनता–प्रेमी युवा–वर्ग की दृढ़ संकल्पित मानसिकता का चित्रण हुआ है, जो कि महाप्राण निराला की सामाजिक प्रतिबद्धता का एक ज्वलंत उदाहरण है ।
Additional Information
Binding

Paperback, Hardcover