Skip to content

Awara Bheed Ke Khatre

by Harishankar Parsai
Original price ₹ 175.00
Current price ₹ 164.00
Binding
Product Description
यह पुस्तक हिंदी के अन्यतम व्यंगकार हरिशकर परसाई के निधन के बाद उनके असंकलित और कुछेक अप्रकाशित व्यंग-निबंधों का एकमात्र संकलन है । अपनी कलम से जीवन ही जीवन छलकानेवाले इस लेखक की मृत्यु खुद में एक महत्त्वहीन-सी घटना बन गई लगती है । शायद ही हिंदी साहित्य की किसी अन्य हस्ती ने साहित्य और समाज में जड़ ज़माने की कोशिश करती मरणोन्मुखता पर इतनी सतत, इतनी करारी चोट की हो । इस संग्रह के व्यंग-निबंधों के रचनाकाल का और उनकी विषय-वस्तु का भी दायरा काफी लम्बा-चौड़ा है । राजनितिक विषयों पर केन्द्रित निबंध कभी-कभी तत्कालीन घटनाक्रम को ध्यान में रखते हुए अपने पाठ की मांग करते हैं लेकिन यदि ऐसा कर पाना संभव न हो तो भी परसाई की मर्मभेदी दृष्टि, उनका वल्तेयरीय चुटीलापन इन्हें पढ़ा ले जाने का खुद में ही पर्याप्त कारण है । वैसे राजनितिक व्यंग्य इस संकलन में अपेक्षाकृत कम हैं-सामाजिक और साहित्यिक प्रश्नों पर केन्द्रीकरण ज्यादा है । हंसने और संजीदा होने की परसाई की यह आखिरी महफ़िल उनकी बाकि साडी महफ़िलो की तरह ही आपके लिए यादगार रहेगी ।