Skip to content

Bagh Se Meri Muthbhed: Ranthambore ki kahani lekhak ki Jubani (My Encounter with the BIG CAT and Other Adventures in Ranthambhore) - (Bahuvachan) -Hindi

by Daulat Singh Shaktawat & Translated by Akshay Kumar
Save Rs 221.00
Original price Rs 595.00
Current price Rs 374.00
Add Rs 500.00 or more in your cart to get Free Delivery
  • ISBN: 9789386906144

Author: Daulat Singh Shaktawat & Translated by Akshay Kumar

Languages: English

Number Of Pages: 128

Binding: Hardcover

Package Dimensions: 7.9 x 5.5 x 1.6 inches

Release Date: 04-12-2019

Details: राष्ट्रीय पशु बाघ को देखने की उत्सुकता जितनी सम्मोहक लगती है, कभी-कभी उतनी ही भयावह भी हो जाती है। आख़िर, ऐसा क्यों, जानने के लिए पढ़ें, यह अद्भुत किताब... जीवंत एवं दुर्लभ तसवीरों के साथ बाघों के किस्से और भी आकर्षक और रोमांचक हो उठते हैं। रणथम्भौर बाघ परियोजना की प्राकृतिक छटा का लुभावना चित्रण प्रकृति प्रेमियों के लिए ख़ास सौगात। यह किताब (बाघ के साथ मेरी मुठभेड़: रणथम्भौर की कहानी, लेखक की ज़ुबानी ) रणथम्भौर बाघ परियोजना, साल 2010 में, एक आक्रामक बाघ के साथ मुठभेड़ का वर्णन करती है। जब भाग को ब करते समय, बाघ ने उन पर आत्मघातक हमला कर दिया था, जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गए थे। लेखक की एक आक्रामक बाघ के साथ मुठभेड़, बिलकुल मृत्यु के द्वार से लौटने जैसा अनुभव है। इसके अतिरिक्त, किताब में अनाथ शावकों का पालन-पोषण; रहस्यमय तेंदुआ, जो अपने मनमाफ़िक निडर भाव से इनसानों पर हमला कर देता था; बाघों पर निगरानी रखना एवं कई अन्य सत्य कहानियाँ भी शामिल हैं। लेखक ने रणथम्भौर के विस्मृत नायकों को श्रद्धांजलि भी दी है, जिन्होंने वन एवं वन्यजीवों की रक्षा करते हुए अपने प्राण एवं जीविका तक न्योछावर कर दी। अनेक दुर्लभ चित्र पुस्तक की रोचकता में चार br>चाँद लगा देते हैं। यह पुस्तक सभी के लिए अवश्य पठनीय है और उनके लिए भी, जो लोग हमारे राष्ट्रीय पशु बाघ में रुचि रखते हैं। a dramatic encounter with a belligerent tiger; a near-death experience; hunting for missing tigers; a mystifying leopard who attacks humans at will with no fear; tracking and monitoring tigers and the fascinating story of an aggressive male tiger. These and other true-life tales form part of My encounter with the big cat and other adventures in Ranthambhore. The author also pays tribute to the unsung heroes of Ranthambhore who gave up their lives and livelihood for the protection of others. Accompanied by rare photographs that enhance the appeal of the book, This is a must read for all, especially for those interested in the life of the tiger, the National animal of India.