Skip to content

Culture Yaksaan

by Bashir Badra
Original price ₹ 395.00
Current price ₹ 359.00
Binding
Product Description

हर बड़े शायर को कड़ी आज़माइशों से गुज़रना होता है। मीर को अपनी अज़मत के इजहार के लिए अज़गर नामा लिखने की ज़रूरत पड़ी। ग़ालिब ने क्या क्या मारका आराइयाँ की। फ़ैज़ जिन्हें उनकी ज़िन्दगी में मक़बूलिअल और इज़्ज़त मिल गयी उन्हें भी आसानी से यह रुतबा नहीं मिला था। गज़िशता तीस बरस में बशीर बद्र ने भी ये सख्तियाँ झेली हैं। ‘इकाई' से लेकर 'आमद' तक उन बड़ी-बड़ी आजमाइशों से वो गुज़रे हैं। उनकी ग़ज़लों की पहली किताब 'इकाई' ने हमारे अदब में तहलका मचा दिया था। एक अजीब शान और धूम से बशीर बद्र ग़ज़ल की दुनिया में आये लेकिन इस पर भी बड़े सर्दो गर्म मौसम गुज़रे, तब वो यहाँ तक पहुँचे हैं। -प्रो. गोपी चन्द नारंग

Customer Reviews

No reviews yet
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)