BackBack

Democresiya

by Asghar Wajahat

Rs 300.00 Rs 270.00 Save ₹30.00 (10%)

HardcoverHardcover
Description
'डेमोक्रेसिया' प्रतिष्ठित कथाकार असगर वजाहत की विशिष्ट कहानियों का संग्रह है ! संग्रह की भूमिका में वे लिखेते है : 'जीवन इतना नंगा हो गया है कि अब लेखक उसकी परतें उखड़ेगा ? रोज अख़बारों में जो छपता है वह पूरे समाज को नंगा करने के लिए काफी हैं ! मूल्यहीनता की जो स्थिति है, स्वार्थ साधने की जो पराकाष्ठा है, हिंसा और अपराध का जो बोलबाला है, सत्ता और धन के लिए कुछ भी कर देने की होड़, असहिष्णुता और दूसरे को अपमानित करने का भाव जो आज हमारे समाज में है, वह पहले नहीं थी ! आज हम अजीब मोड़ पर खड़े हैं ! रचनाकार के लिए यह चुनोतियों से भरा समय है ! और इन हालात में लगता है, क्या लिखा जाए ?' लेखन, सम्प्रेषण, हस्तक्षेप और सार्थकता से जुड़े सवालों का सामना असगर वजाहत ने अपनी कहानियों में बखूबी किया है ! भाषा की व्यंजनाशक्ति का ऐसा विलक्षण प्रयोग बहुत कम रचनाकारों में दीखता है ! 'देखन में छोटे लगें घाव करें गंभीर' के अर्थ को इन कहानियों में सोदाहरण पढ़ा जा सकता है ! प्रखर राजनितिक-सामाजिक विवेक असगर वजाहत की रचनाओं में प्राणशक्ति है !