Skip to content

Mahatma Jotiba Phule Rachanawali : Vols. 1-2

by L. G. Meshram Vimalkirti
Original price Rs 600.00
Current price Rs 540.00
Binding
  • Language: Devnagri
  • Pages: 688
  • ISBN: 9788171197323
  • Related Category: Society
Product Description
यह किताब जोतिबा फुले (जोतीराव गोविंदराव फुले : 1827-1890) की सम्पूर्ण रचनाओं का संग्रह है । सन 1855 से सन 1890 तक उन्होंने जितने ग्रंथो की रचना की, सभी को इसमें संगृहीत किया गया है । उनकी पहली किताब 'तृतीय रत्न' (नाटक) सन 1855 में और अंतिम 'सार्वजानिक सत्यधर्म' सन 1891 में उनके परिनिर्वाण के बाद प्रकाशित हुई थी । जोतीराव फुले की कर्मभूमि महाराष्ट्र रही है । उन्होंने अपनी साडी रचनाएँ जनसाधारण की बोली मराठी में लिखीं । उनका कार्य और रचनाएँ अपने समय में भी विवादस्पद रहीं और आज भी हैं । लेकिन उनका लेखन हर पीढ़ी में सामाजिक क्रांति की चेतना जगाता रहेगा, इसमें कोई संदेह नहीं । उनकी यह रचनावली उनके कार्य और चिंतन का ऐतिहासिक दस्तावेज है ।