BackBack

Maun Muskaan Ki Maar

by Ashutosh Rana

Rs 225.00

Description

Author: Ashutosh Rana

Languages: Hindi

Number Of Pages: 200

Binding: Paperback

Package Dimensions: 7.7 x 5.1 x 0.3 inches

Release Date: 01-12-2018

Details: मैंने और अधिक उत्साह से बोलना शुरू किया, ''भाईसाहब, मैं या मेरे जैसे इस क्षेत्र के पच्चीस-तीस हजार लोग लामचंद से प्रेम करते हैं, उनकी लालबत्ती से नहीं।'' मेरी बात सुनकर उनके चेहरे पर एक विवशता भरी मुसकराहट आई, वे बहुत धीमे स्वर में बोले, ''प्लेलना (प्रेरणा) की समाप्ति ही प्लतालना (प्रतारणा) है।'' मैं आश्चर्यचकित था, लामचंद पुनः 'र' को 'ल' बोलने लगे थे। इस अप्रत्याशित परिवर्तन को देखकर मैं दंग रह गया। वे अब बूढ़े भी दिखने लगे थे। बोले, ''इनसान की इच्छा पूलती (पूर्ति) होना ही स्वल्ग (स्वर्ग) है, औल उसकी इच्छा का पूला (पूरा) न होना नलक (नरक)। स्वल्ग-नल्क मलने (मरने) के बाद नहीं, जीते जी ही मिलता है।'' मैंने पूछा, ''फिर देशभक्ति क्या है?'' अरे भैया! जरा सोशल मीडिया पर आएँ, लाइक-डिस्लाइक (like-dislike) ठोकें, समर्थन, विरोध करें, थोड़ा गालीगुप्तार करें, आंदोलन का हिस्सा बनें, अपने राष्ट्रप्रेम का सबूत दें। तब देशभक्त कहलाएँगे।

अनुक्रम

भूमिका : ये रचनाएँ और आशुतोष राणा - Pgs. 7

अपनी बात - Pgs. 11

1 लामचंद की लालबत्ती - Pgs. 19

2 गप्पी और पप्पी - Pgs. 32

3 गंधी वृक्ष - Pgs. 40

4 आभासी क्रांति - Pgs. 45

5 भक्क नारायण महाराज - Pgs. 49

6 अंतरात्मा का जंतरमंतर और तंतर - Pgs. 54

7 बीसीपी उर्फ भग्गू पटेल - Pgs. 58

8 आत्माराम विज्ञानी - Pgs. 66

9 राम रवा लपटा महाराज - Pgs. 78

10 लाठी गली - Pgs. 86

11 यह कलियुग है - Pgs. 95

12 बिस्पाद गुधौलिया - Pgs. 103

13 चित्त और वित्त - Pgs. 114

14 गुंचई का गीता ज्ञान - Pgs. 119

15 मैं का मोह - Pgs. 125

16 हैप्पी बर्थ डे बापू - Pgs. 133

17 तीनबत्ती की सिंहासन बत्तीसी - Pgs. 137

18 अर्थी का अर्थ - Pgs. 142

19 धप्पू - Pgs. 149

20 सब्र का फल और कब्र का फल - Pgs. 154

21 मनोविज्ञान के कुछ क्रांतिकारी सूत्र - Pgs. 160

22 यश और राज की दीवार - Pgs. 165

23 'G' की शक्ति - Pgs. 172

(Continue)...