BackBack

Odiya Sahitya Aur Sanskrit

by Ajay Kumar Patnayak

Rs 475.00 Rs 427.00 Save ₹48.00 (10%)

Description

उड्र, कलिंग और उत्कल के नाम से परिचित ओड़िशा अपने प्राचीन ऐतिह्य के कारण सदियों से चर्चित रहा है । उत्कृष्ट कला जस्मिन देशे तत उत्कलम् । जाहिर है कि यह देश कवि और कलाकारों का देश रहा है । कभी श्री जगन्नाथ की पावन भूमि के रूप में इसे स्मरण किया गया तो कभी कला का अद्भुत मिसाल कोणार्क के लिए । कभी नौवाणिज्य के लिए कलिंग का नाम रौशन हुआ तो कभी ओड़िशी नृत्य और संगीत के लिए ओड़िशा विश्व भर में जाना और पहचाना गया । एक–तिहाई आदिवासियों सहित ओड़िशा अपने सांस्कृतिक वैवि/य से सम्पन्न है । यहाँ के लोक–साहित्य, काव्य, नाटक, कथा–कहानियाँ आदि में जैसा स्वातन्त्र्य परिलक्षित होता है, यहाँ की धर्म–धारणा, पर्व–त्योहार आदि में भी अनोखा वैचित्र्य दृष्टिगत होता है । ओड़िशा की धार्मिक, साहित्यिक एवं सांस्कृतिक मनोभूमि का तनिक जायजा लेने का प्रयास है यह पुस्तक ‘ओड़िआ साहित्य और संस्कृति’ ।