BackBack

Phir Subah Hogi

Balwant Singh (Author)

Rs 95.00 – Rs 225.00

PaperbackPaperback
HardcoverHardcover
Rs 95.00
Description
प्रस्तुत उपन्यास ‘फिर सुबह होगी’ में पीड़ा का दवा-दवा स्वर गूँजता है जो एक पीढ़ी से शुरू होता है और इसका अंट दूसरी पीढ़ी में जाकर होता है ! इस उपन्यास में कुछ पात्रों को लेकर कथानक का ताना-बाना तैयार किया गया है, जो मध्यम वर्ग से सम्बन्ध रखते हैं ! सभी पत्र पाठकों के सुपरिचित व्यक्तियों में से लिये गये हैं परन्तु कहानी की रोचकता व् सजीवता में कोई कमी नहीं महसूस होती ! विश्वास है यह उपन्यास पाठकों को शुरू से अंट तक बांधे रखने में सक्षम सिद्ध होगा !
Additional Information
Binding

Paperback, Hardcover

Reviews

Customer Reviews

Based on 1 review Write a review