Skip to content

TEEN SAU RAMAYAN

by A K Ramanujan
Rs 125.00
Add Rs 500.00 or more in your cart to get Free Delivery
Free Reading Points on every order
Binding

तीन सौ रामायण बहुभाषाविद, लोकवार्ताकार,अनुवाद, कवि और अध्यापक रामानुजन द्वारा संसार में रामकथा की अद्भुत विविधतापूर्ण व्याप्ति और इसके भीतर छिपे अर्थ -संसार के विराट -संभावना लोक का अत्यंत ही संवेदनशील दृष्टि से किया गया उदघाटन है। सहस्रों वर्षों से अनेकानेक संस्कृतियों की अनेक पीढियां धर्मों की बाधाओं से परे इस कथा में अपने जीवन अर्थों का सृजन करती आई हैं। यह देख कर आश्चर्य होता है कि इस कथा में कितना लचीलापन रहा है। रामानुजन इस लेख में राम-कथा की विविधता के माध्यम से अर्थ-निर्माण और अनुवाद की प्रक्रिया पर भी विचार करते हैं।

Customer Reviews

Based on 1 review
100%
(1)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
0%
(0)
M
M.J.
Well done 👌👍