Skip to content

Television Lekhan

by Asghar Wajahat
Original price Rs 395.00
Current price Rs 356.00
Binding
Product Description
उपन्यासकारों और कहानीकारों के लिए फिल्म व् टेलीविज़न जैसे अभिव्यक्ति के सशक्त माध्यमों के लिए लेखन-कार्य चुनौतीपूर्ण रहा है | उपन्यास और कहानी से सम्पृक्ति बनाए रखने के बावजूद पटकथा लेखन थोडा अलग है | यहाँ 'दो आँखों को चार' बनाने की जरुरत पड़ती है | रचनात्मक प्रतिभा, बुनियादी जानकारी, अभ्यास और अनुशासन ही सफल पटकथा का राज है | यह पुस्तक विषयगत प्राथमिक जानकारियां देने के साथ उक्त सभी गुर बनाती है और प्रेरित भी करती है | टेलीविज़न लेखन में व्यावहारिक पक्षों को सोदाहरण मित्रवत शिक्षक की तरह समझाया गया है | पुस्तक हमें बताती है कि बुद्धि, विचार, संवेदना तथा प्रतिक्रिया को किस तरह गुंफित कर उसे 'विजुलाइज' करना है | यहाँ पृष्ठभूमि सम्बंधित तमाम वांछित जानकारियां हैं | टेलीविज़न लेखन की संरचना और उसके निर्माण की सभी प्रविधियों के उल्लेख के साथ महत्त्पूर्ण और चर्चित पटकथाओं के अंश भी दिए गए हैं | जिनकी पटकथाएँ आज मानक की हैसियत अख्तियार कर चुकी हैं, ऐसे नामचीन पटकथा लेखकों-कमलेश्वर, मनोहरश्याम जोश, अशोक चक्रधर और अरुण प्रकाश से लिए गया साक्षात्कार विषयगत कई बारीकियाँ खोलता है | अंत में दी गई तकनीकी शब्दावली पुस्तक को महत्त्पूर्ण बनाती है |