BackBack

Vikramorvashi

by Kalidas

Rs 165.00 Rs 148.50 Save ₹16.50 (10%)

PaperbackPaperback
Description

कविकुल गुरु कालिदास ने जहाँ संस्कृत साहित्य में उच्चकोटि के महाकाव्यों और खंडकाव्यों की रचना की, वहीं उत्कृष्ट नाटकों का भी सृजन किया। विक्रमोर्वशी तथा मालविकाग्निमित्र उनके लोकप्रिय नाटक हैं। दोनों ही नाटकों में नायक का नायिका से अकस्मात् मिलन, संयोग, वियोग और अंत में पुनर्मिलन होता है। यह कालिदास की ही विशेषता है कि नायक नायिका के सुख-दुःख में जड़-प्रकृति भी मुखरित हो उठती है।